हिन्दी की दशा

अभी पिछले सप्ताह मैं 3-4 हिन्दी magazines खरीद कर लाया। इच्छा थी कि कुछ हिन्दी में पढ़ूँ, और जानूँ कि हिन्दी में क्या लिखा जा रहा है। बीच बीच में मुझे ये बुखार चढ़ जाता है। खैर, magazines थीं ये: पाखी, कथादेश, हंस, और "आहा! जिंदगी।" पढ्न शुरू किया दो-तीन दिन की सुस्ती के बाद। …

Continue reading हिन्दी की दशा

Started my Mandarin lessons

Finally I started my mandarin lessons, 3 days a week, 100 minutes each. First 2 classes were about sounds (called Finals in the book), and how to make simple words using the initials (consonants). I was amazed to know there are 39 finals (English has only 5 vowels and 2 semi-vowels in comparison, hindi has …

Continue reading Started my Mandarin lessons